Monday, May 20, 2024

खतरनाक जीव समुद्र से निकलेंगे भयानक जीव इंसानों का करेंगे शिकार क्या ग्लोबल वार्मिंग अगले बड़े पैमाने पर विलुप्त होने का कारण बनेगी…

शोधकर्ता इन सभी सवालों का जवाब तलाशने की कोशिश कर रहे हैं। शोधकर्ताओं की एक टीम ने नॉर्थ डकोटा और कनाडा के बीच बकेन फॉर्मेशन कहे जाने वाले 5.18 लाख वर्ग किलोमीटर क्षेत्र की जांच की। इस स्थान पर उन्हें काला खोल मिला। वास्तव में, बकेन फॉर्मेशन अमेरिका का सबसे बड़ा प्राकृतिक गैस और तेल भंडार है। लेकिन ब्लैक शेल पर शोधकर्ताओं द्वारा किए गए शोध में एक डरावना खुलासा हुआ है।

लाइव साइंस द्वारा प्रकाशित एक रिपोर्ट में:
खुलासा हुआ है कि समुद्र के स्तर में वृद्धि के कारण ऑक्सीजन का स्तर कई गुना कम हो गया है। इसके साथ ही हाइड्रोजन सल्फाइड के प्रसार में वृद्धि हुई है।शोधकर्ताओं ने कहा कि इसके कारण देवोनियन काल में 41.9 मिलियन वर्ष से 35.89 मिलियन वर्ष तक दुनिया के विभिन्न कोनों में सामूहिक विनाश की प्रक्रिया जारी रही। डेवोनियन काल को मछलियों का युग भी कहा जाता है। हाइड्रोजन सल्फाइड तब बनता है जब समुद्री शैवाल समुद्र के किनारे सड़ने लगते हैं। इससे समुद्र में ऑक्सीजन के स्तर में तेजी से बदलाव होता है और यह तेजी से घटता है। अध्ययन के सह-लेखक और यूनिवर्सिटी ऑफ मैरीलैंड के भूविज्ञानी एलन जे. कॉफमैन ने कहा कि हाइड्रोजन सल्फाइड के छलकने से पहले भी बड़े पैमाने पर तबाही हुई है। लेकिन इसके प्रभावों पर अभी तक शोध नहीं किया गया है।

पांच प्रमुख द्रव्यमान तत्व हुए विलुप्त:
शोध के अनुसार डेवोनियन काल में ऐसी मछलियां थीं जिनके जबड़े नहीं थे। इन्हें प्लैकोडर्म कहा जाता था। ये मछलियाँ विशेष रूप से गोंडवाना और यूराअमेरिका में व्यापक थीं। उस समय समुद्र में कई त्रिलोबाइट और अम्मोनीट भी थे। जमीन पर फर्न जैसे पौधे भी थे। इस डेवोनियन काल में पांच प्रमुख सामूहिक विलुप्तियां देखी गईं, जो इसके कारण हुईं।

इंसानों का शिकार करने निकलेंगे समुद्र से खतरनाक जीव:
शोधकर्ताओं ने अपनी रिसर्च में डरावने खुलासे किए हैं और चेतावनी दी है कि जिस तरह से ग्लोबल वार्मिंग हो रही है। इस हिसाब से अगली बड़ी आपदा समुद्र से आएगी। यानी अगली आपदा इंसानों की वजह से है। शोध में कहा गया है कि समुद्र का स्तर बढ़ेगा और ऑक्सीजन की कमी होगी। साथ ही हाइड्रोजन सल्फाइड की मात्रा भी बढ़ेगी। समुद्र से समुद्री जीव निकलेंगे और मानव बस्तियों पर कब्जा कर उनका शिकार करेंगे। इसके बाद धीरे-धीरे नए जीवों का जन्म होगा और फिर नए जानवरों के साथ नए पेड़-पौधे भी आएंगे।

Related Articles

Stay Connected

1,158,960FansLike
856,329FollowersFollow
93,750SubscribersSubscribe

Latest Articles