Monday, May 20, 2024

हरे या पीले कपड़े में लपेटकर करें इस वस्तु का दान रातों रात होंगे मालामाल…

नवरात्रि के चौथे दिन मां कुष्मांडा की विधि-विधान से पूजा की जाती है। इस दिन मां दुर्गा के चौथे स्वरूप की पूजा की जाती है। मान्यता है कि मां कुष्मांडा का प्रिय रंग हरा और पीला है। अगर आप अपने संकटों का अंत करना चाहते हैं तो इस दिन माता की पूजा करने से हर तरह के दुखों और पीड़ाओं से मुक्ति मिल सकती है। इस दिन दान करने का विशेष महत्व होता है। कहा जाता है कि जो व्यक्ति नवरात्रि में दान करता है उसके जीवन में आने वाली सभी बाधाएं दूर हो जाती हैं। तो आइए जानते हैं कि नवरात्रि में किन वस्तुओं का दान करना शुभ माना जाता है..

ऐसा करने से मां कुष्मांडा प्रसन्न होती हैं :
अक्सर ऐसा होता है कि हम कितनी भी पूजा कर लें, उस पर हमेशा मुसीबत का साया ही रहता है। इसलिए इस दिन भी नवरात्रि में हर रोज की तरह सबसे पहले कलश की पूजा करें और मां कुष्मांडा को प्रणाम करें, पूजा में बैठने के लिए हरे या पीले रंग के आसन का प्रयोग करना बेहतर होता है। अपने और अपने रिश्तेदारों के अच्छे स्वास्थ्य के लिए मां कुष्मांडा को फूल चढ़ाएं और उनका आशीर्वाद लें। देवी को मालपुए का भोग लगाएं और उसका प्रसाद ब्राह्मणों को दें।

नवरात्रि के 9 दिनों तक इन चीजों का दान करें:

– कन्या पूजन के बाद कन्याओं को किताबें या शिक्षा संबंधी वस्तुओं का दान करना चाहिए, इससे माता रानी प्रसन्न होती हैं. पुस्तकों का दान करने से आपके जीवन में कभी भी दुखों का सामना नहीं करना पड़ता है साथ ही मां सरस्वती की कृपा भी बनी रहती है।

– नवरात्रि के 9वें दिन केले का दान करना बेहद शुभ माना जाता है, इससे घर में बरकत आती है और शुभ फलों की प्राप्ति होती है।

– अगर आप नवरात्रि के चौथे दिन दान कर रही हैं तो चूड़ियों को हरे या पीले कपड़े में लपेटकर दान करें। ऐसा करने से आपको शुभ फल की प्राप्ति होती है।

Related Articles

Stay Connected

1,158,960FansLike
856,329FollowersFollow
93,750SubscribersSubscribe

Latest Articles