Wednesday, February 28, 2024

कैदियों के लिए अड्डा बनी गुजरात की जेलें औचक जांच में मुंबई के बार जैसा सामान मिला..

गुजरात की जेलों में अचानक हुई पुलिस चेकिंग से कैदियों में हड़कंप मच गया. गृह मंत्रालय के आदेश के बाद वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों की मौजूदगी में पुलिस का काफिला जेल पहुंचा। अलग-अलग जेलों में की गई जांच में कई प्रतिबंधित सामान मिले हैं। सूरत की लाजपोर जेल में पुलिस को चेकिंग से रोकने के लिए कैदियों ने बैरकों में आग लगा दी. इतना ही नहीं उन्होंने थाली बजाकर जमकर हंगामा भी किया। गृह मंत्रालय ने बैरक के अंदर आग लगाने की घटना को लेकर तत्काल रिपोर्ट मांगी है. तो वहीं दूसरे सीन भी सूरत के लाजपोर जेल के हैं। जिसमें चेकिंग के दौरान बंदियों के सोने वाले तकिए में गुटखा व नशीला पदार्थ पाया गया। शो में देखा जा सकता है कि तकिए में कई गुटखा पैड छिपाए हुए थे, जिन्हें पुलिस ने निकाल कर जब्त कर लिया. इन दोनों घटनाओं से गृह मंत्रालय हरकत में आ गया है. रिपोर्ट मिलने के बाद जेल के उच्चाधिकारियों पर कार्रवाई की जा सकती है।

राज्य भर की जेलों में पुलिस के तलाशी अभियान के दौरान कई सामान मिले हैं। कुछ जेलों में पान-बीड़ी, तंबाकू, सिगरेट मिले। कुछ जेलों में गांजा जैसे नशीले पदार्थ पाए गए हैं। एफएसएल जांच के बाद प्राप्त सामग्री का पता चल पाएगा। गुजरात की जेलों में अवैध गतिविधियों को रोकने के लिए 17 जेलों में छापेमारी की गई. गृह मंत्री की अध्यक्षता में गुजरात की जेलों पर छापे मारे गए। जिसमें डेढ़ हजार से अधिक पुलिस कर्मी व अधिकारी तलाशी में जुटे हुए हैं। गुजरात भर की जेलों में की गई छापेमारी की रिपोर्ट सौंपी जाएगी। रिपोर्ट गृह राज्य मंत्री हर्ष सांघवी और मुख्यमंत्री भूपेंद्र पटेल को सौंपी जाएगी। विस्तृत रिपोर्ट के बाद आगे की कार्रवाई पर निर्णय लिया जाएगा।

पुलिस ने गुजरात राज्य की 17 जेलों में छापेमारी की. छापेमारी के दौरान बंदियों के पास से मोबाइल फोन बरामद किए गए। तो सूरत जेल से 10 और खेड़ी जेल से 2 मोबाइल मिले पुलिस ने सामान जब्त कर आगे की कार्रवाई शुरू कर दी…

राज्य के गृह मंत्रालय के आदेश के बाद राज्य भर की जेलों में चेकिंग की गई. जिसमें 17 जेलों में 1700 कर्मचारियों ने बॉडी वियर कैमरों से चेकिंग की। लिहाजा मुख्यमंत्री ने सीएम डैशबोर्ड से चेकिंग की निगरानी की. गृह राज्य मंत्री डीजीपी ने लाइव मॉनिटरिंग भी की। देर रात की कार्रवाई में कई प्रतिबंधित सामान बरामद हुए हैं। जिससे पता चलता है कि गुजरात की जेलें कैदियों के लिए अड्डा बन गई हैं। ज्यादातर जेलों से मोबाइल, नशीला पदार्थ बरामद किया गया है।

किस जेल में क्या मिला:
– सूरत की लाजपोर जेल में पुलिस की चेकिंग के दौरान सामने आया नज़ारा…. जेल में मिले तंबाकू, गुटखा… तकिये के अंदर गुटखा पैड मिले… –

कुल अहमदाबाद जेल से 65 पैकेट गांजा जब्त किया गया…. अकरम अजीज शेख नाम के आरोपी के पास से जब्त गांजा…जांच के दौरान सामने आया कि जेलर बंदियों को मोबाइल फोन दे रहे थे…

– सेंट्रल जेल में जांपूरी अहमदाबाद….. सेंट्रल जेल से पुलिस का काफिला रवाना… सुबह 4 बजे के करीब शुरुआती जांच हुई…..नए बैरकों में भी तलाशी….

वडोदरा की सेंट्रल जेल में 100 से ज्यादा पुलिसकर्मियों ने की तलाशी… तलाशी रात 9 बजे से सुबह 7 बजे तक चलाया गया…. बीडी, तंबाकू, गुटखा मिला, जिसे मौके पर ही नष्ट कर दिया..

– राजकोट जिला जेल में सुबह 5 बजे तक तलाश जारी रही…. तड़के तलाशी पूरी हुई…. 1 जेसीपी, 3 डीसीपी, 4 एसीपी, 10 से ज्यादा पीआई सर्च में शामिल हुए.. 15 से ज्यादा पीएसआई, करीब 500 कांस्टेबल भी तलाशी में शामिल हुए…

– भावनगर जिला जेल में पुलिस ने की सघन चेकिंग… एसपी, एलसीबी के साथ एसओजी भी चेकिंग में जुटे… देर रात ढाई बजे तक चला सर्च ऑपरेशन… दावा किया कि कुछ नहीं मिला चेकिंग में मिला…

-हिम्मतनगर जिला पुलिस जेल में जांच पूरी…..जिला पुलिस प्रमुख, डीएसपी, एलसीबी और एसओजी समेत पुलिस का काफिला रवाना…..जेल के 6 बैरकों में तलाशी ली गई..- छापेमारी मेहसाणा जिला जेल में कार्रवाई पूरी…. जिला पुलिस अधीक्षक की मौजूदगी में हुई जांच…जेल से पुलिस का काफिला रवाना…मेहसाणा जेल में कुछ भी आपत्तिजनक नहीं मिलने की सूचना…

– नदियाद के पास बिलोदरा जेल में पुलिस विभाग का तलाशी अभियान… तलाशी के दौरान दो फोन मिले…. 3 पीआई, 3 पीएसआई समेत 34 पुलिस कर्मी जांच अभियान में शामिल हुए… 14 बोर्डिवॉन कैमरों का इस्तेमाल किया गया तलाशी.

-नर्मदा जिला कारागार में अभियान पूरा…जांच अभियान में शामिल हुए करीब 50 पुलिसकर्मी….जेल में करीब 162 बंदियों की जांच की गई…तंबाकू, बीडी, बैट, चप्पू बरामद छापेमारी के दौरान जेल…

सूरत की लाजपोर जेल में कैदियों का हंगामा :
लाजपोर जेल में पुलिस के तलाशी अभियान के दौरान लाजपोर जेल के अंदर कैदियों द्वारा आग लगाने का एक वीडियो सामने आया है। पुलिस सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार लाजपोर जिले के बंदियों द्वारा उन्हें रोकने का काफी प्रयास किया गया. जेल की दूसरी मंजिल पर कैदियों ने आग लगाकर उन्हें रोकने की कोशिश भी की। चेकिंग करने पहुंची पुलिस से झड़प हो गई। बैरकों में आग लगाकर पुलिस को चेकिंग से रोका गया। जेल में थाली बजाकर चेकिंग का विरोध किया गया। देर रात जेल के अंदर जमकर हंगामा हुआ। पुलिस को आग लगाकर आगे जाने से रोका गया। यह बहुत ही गंभीर घटना है। गृह विभाग ने जेल में आग लगने की घटना पर रिपोर्ट मांगी है। तो गांजा अहमदाबाद की साबरमती सेंट्रल जेल से बरामद किया गया है। बंदी अकरम अब्दुल शेख के पास से गांजे के 14 पैकेट बरामद किए गए. जेलर भी बंदियों को मोबाइल फोन देते पाए गए।

Related Articles

Stay Connected

1,158,960FansLike
856,329FollowersFollow
93,750SubscribersSubscribe

Latest Articles