Saturday, April 13, 2024

आधार कार्ड पैन कार्ड लिंक नहीं कराया तो रुक जाएंगे ये 22 काम ये हैं लिंक कराने के आसान स्टेप्स…

अब गिनती के दिन शेष हैं। अगर आधार कार्ड पैन कार्ड से लिंक नहीं है तो आप एक नहीं 22 ऑपरेशन नहीं कर सकते हैं। सभी जानते हैं कि पैन कार्ड का मतलब हमारा परमानेंट अकाउंट नंबर होता है। जिसे भारत सरकार के सबसे अहम सबूतों में से एक माना जाता है। और किसी भी प्रकार के वित्तीय लेनदेन के लिए यह प्रमाण होना आवश्यक है। अब बात करते हैं आधार कार्ड की। तो आधार कार्ड यानी आधार कार्ड सबसे बड़ा सबूत है कि हम भारत के नागरिक हैं। जेजे की नौकरियों में पहले इलेक्शन कार्ड का इस्तेमाल होता था अब उन नौकरियों में आधार कार्ड की जरूरत पड़ती है। बल्कि यूं कहें कि हर काम में आधार कार्ड मांगा जाता है।

पैन को आधार से लिंक करने के 2 तरीके हैं:

1) इनकम टैक्स ई-फाइलिंग वेबसाइट के जरिए आधार कार्ड को पैन कार्ड से लिंक करने की प्रक्रिया
चरण 1: पैन कार्ड आधार कार्ड को लिंक करने के लिए सबसे पहले आपको वेबसाइट https://www.incometax.gov.in/iec/foportal पर जाना होगा ।

चरण 2:
पेज में लिंक आधार पर क्लिक करें।

STEP 3: इसके बाद एक नया पेज खुलेगा जिसमें आपको अपना आधार कार्ड नंबर और पैन कार्ड नंबर डालना होगा और Validate पर क्लिक करना होगा।

चरण 4: यदि आपको शुल्क का भुगतान करने की आवश्यकता है तो आपसे शुल्क का भुगतान करने के लिए कहा जाएगा अन्यथा आप पैन आधार को लिंक नहीं कर पाएंगे।

जानिए पैन कार्ड को आधार कार्ड से लिंक कराने के लिए कैसे चुकाएं शुल्क?

चरण 5: आपको पैन कार्ड नंबर, आधार कार्ड नंबर, आधार में नाम और मोबाइल नंबर दर्ज करना होगा। और लिंक आधार पर क्लिक करें। (पैन कार्ड लिंक आधार कार्ड से)

STEP 6: उसके बाद आधार कार्ड पर मोबाइल नंबर लिंक पर ओटीपी भेजा जाएगा।

चरण 7: ओटीपी दर्ज करने के बाद आपको एक संदेश दिखाई देगा जो कहता है कि आपकी आधार पैन लिंक प्रक्रिया पूरी हो गई है अब आप पैन आधार लिंक स्थिति की जांच कर सकते हैं।

पैन-आधार को लिंक करना क्यों जरूरी है?
किसी खराबी के कारण एक बार में एक व्यक्ति को कई पैन कार्ड जारी कर दिए गए। और कई लोगों के पैन कार्ड नंबर भी एक ही होने का पता चला। इस तरह की खामियां सामने आने के बाद यह फैसला लिया गया है। जिसमें आयकर विभाग ने पैन डेटाबेस में दोहराव को कम करने का फैसला लिया है। वित्तीय लेन-देन में बड़े घोटाले को रोकने के लिए सरकार को इस दस्तावेज़ की सही जानकारी होना आवश्यक है।

भारी जुर्माना और जेल की सजा हो सकती है:
आधार और पैन को जोड़ने की समय सीमा पूरी होने वाली है। ऐसा करना अब सभी के लिए अनिवार्य है। अगर कोई पैन कार्ड धारक सरकार के आदेश का पालन नहीं करता है तो उस पर भारी जुर्माना भी लग सकता है।

आधार-पैन लिंक नहीं कराने पर 10,000 जुर्माना-
आयकर विभाग की घोषणा के अनुसार, अगर आप 31 मार्च से पहले आधार और पैन को लिंक नहीं कराते हैं, तो आपको 10,000 रुपये का जुर्माना देना होगा। इतना ही नहीं 31 मार्च के बाद जिन लोगों का पैन और आधार लिंक नहीं होगा, उनके पैन कार्ड बंद कर दिए जाएंगे। जिससे व्यक्ति के पैन से जुड़े सभी काम रुक जाएंगे. अगर आपने अभी तक ऐसा नहीं किया है तो आपको इसे तुरंत करना चाहिए।

दो पैन कार्ड पर जेल-
अगर आपके पास दो पैन कार्ड हैं तो ऐसा करने पर आपको जेल हो सकती है। दो पैन कार्ड होना एक आपराधिक अपराध है। अगर आपके पास दो पैन कार्ड हैं तो आपको एक पैन कार्ड सरेंडर करना होगा। ऐसा न करने पर आपको 6 महीने की जेल हो सकती है।

पैन-आधार को लिंक करने की आवश्यकता किसे नहीं है?
आपको बता दें कि आंकड़ों के मुताबिक, 24 जनवरी, 2022 तक 43.34 करोड़ पैन को आधार से जोड़ा जा चुका है। अब तक 131 करोड़ आधार कार्ड जारी किए जा चुके हैं। पैन-आधार लिंकिंग से ‘डुप्लिकेट’ पैन को खत्म करने और कर चोरी को रोकने में मदद मिलेगी। आयकर विभाग ने कहा है कि आयकर कानून 1961 के तहत छूट की श्रेणी में नहीं आने वाले पैन कार्ड धारकों के लिए 31 मार्च, 2023 से पहले अपने पैन को आधार से जोड़ना अनिवार्य है। ऐसा नहीं करने वाले पैन कार्ड धारकों का 1 अप्रैल 2023 से पैन कार्ड निष्क्रिय कर दिया जाएगा।

नहीं कर सकते ये 22 काम…

-इन कार्यों में बैंक खाता खुलवाने में परेशानी होगी।
-कोई भी और किसी भी प्रकार का निवेश करना मुश्किल होगा।
-आप म्यूचुअल फंड में निवेश नहीं कर सकते हैं।
-किसी भी तरह की एफडी बेकार होगी।
-बैंकों में खातों के प्रबंधन में कठिनाई होगी।
-ऑनलाइन ऐप के जरिए किए गए किसी भी ट्रांजैक्शन में दिक्कत आना लाजमी है।
-केवाईसी में आएगी दिक्कत
-किसी भी प्रकार की संपत्ति खरीदने में आपको कठिनाई का सामना करना पड़ेगा।
-बीमा कार्य में भी कठिनाई होगी।
-नौकरीपेशा लोगों को दिक्कतों का सामना करना पड़ेगा।
-नौकरीपेशा लोगों को परेशानी होगी।
-नौकरी बदलने में परेशानी होगी।
-ठेका कर्मियों को वैसे भी कठिनाई का सामना करना पड़ेगा और उनका काम अब आसान नहीं होगा।
-तमाम तरह के ट्रस्ट, एनजीओ आदि को भी मुश्किलों का सामना करना पड़ेगा।
-नई कार खरीदना मुश्किल होगा। बिक्री में भी दिक्कत आएगी क्योंकि अगर सामने वाला व्यक्ति पैन आधार से लिंक नहीं होगा तो वह -ऐसे व्यक्ति को कोई क्रेडिट कार्ड जारी नहीं किया जाएगा।
-कर्ज मिलना मुश्किल होगा।
-डीमैट खाता नहीं खोला जा सकता है।
-कहीं भी 50000 रुपये से अधिक का भुगतान प्राप्त करने और देने में समस्या होगी।
-चेक और ड्राफ्ट संबंधी कार्यों में आपको दिक्कतों का सामना करना पड़ेगा।
-मुश्किल से आपको कर्ज मिल पाएगा।
-इसके अलावा भी कई ऐसे काम हैं जिनमें पैन कार्ड की जरूरत पड़ती है और जब पैन कार्ड किसी काम का नहीं होगा तो ये सारे काम -कैसे होंगे, यह सोचने वाली बात है।

Related Articles

Stay Connected

1,158,960FansLike
856,329FollowersFollow
93,750SubscribersSubscribe

Latest Articles