Thursday, April 25, 2024

आईफोन बनाने वाली कंपनी फॉक्सकॉन भारत में करेगी करोड़ों का निवेश, एक लाख लोगों को मिलेगी नौकरी..

फॉक्सकॉन: फॉक्सकॉन टेक्नोलॉजी ग्रुप की पार्टनर लंबे समय से भारत में आईफोन की मैन्युफैक्चरिंग कर रही है और अब कंपनी की लंबी योजना सामने आई है। फॉक्सकॉन ग्रुप भारत में 70 करोड़ डॉलर यानी करीब 5,740 करोड़ रुपये का निवेश करने जा रहा है।

निवेश से भारत में आएगा चीनी उत्पादन: फॉक्सकॉन टेक्नोलॉजी ग्रुप के निवेश से चीन में उत्पादन भारत में आएगा। वर्तमान में, Apple के iPhone और कई अन्य उत्पादों का निर्माण वाशिंगटन और बीजिंग में किया जा रहा है। लेकिन अब फॉक्सकॉन इस प्रोडक्शन को पूरी तरह भारत में लाने की तैयारी कर रही है। रिपोर्ट कहती है। कि फॉक्सकॉन बेंगलुरु एयरपोर्ट के पास 300 एकड़ जमीन पर नया प्लांट लगाने की योजना बना रही है। इस प्लांट में एपल के हैंडसेट असेंबल किए जाएंगे और प्लांट का इस्तेमाल इलेक्ट्रिक व्हीकल्स बनाने में भी किया जाएगा।

फॉक्सकॉन भारत में अब तक का सबसे बड़ा निवेश करेगी: फॉक्सकॉन भारत में अब तक का सबसे बड़ा निवेश करेगी अगर भारत में इस तरह का निवेश जारी रहा तो चीन से दुनिया के सबसे बड़े उपभोक्ता उत्पादक देश का ताज छिन जाएगा। भारत में इस निवेश से करीब एक लाख लोगों को रोजगार मिलने की उम्मीद है। फॉक्सकॉन के चीन प्लांट में करीब 2 लाख कर्मचारी काम करते हैं। Apple और फॉक्सकॉन ने अभी तक रिपोर्ट पर कोई टिप्पणी नहीं की है। हाल ही में फॉक्सकॉन के चेयरमैन यंग लियू ने इसी हफ्ते प्रधानमंत्री मोदी से मुलाकात की थी। कर्नाटक राज्य सरकार ने भी तुरंत कोई प्रतिक्रिया नहीं दी। फॉक्सकॉन के अलावा विस्ट्रॉन कॉर्प और पेगाट्रॉन कॉर्प भी भारत में आईफोन का निर्माण कर रही हैं।

कप्तान मोदी… एस जयशंकर ने कहा कि क्रिकेट के आकलन में सरकार कैसे काम करती है
अच्छी खबर! छंटनी के बीच देश की इन 5 दिग्गज कंपनियों में नौकरी के मौके
जेनेटिक मैपिंग के क्षेत्र में मुकेश अंबानी का कदम, 86 फीसदी सस्ता होगा यह टेस्ट

भारत में होगा सेमीकंडक्टर का उत्पादन : हाल ही में वेदांता ग्रुप और इलेक्ट्रॉनिक्स मैन्युफैक्चरिंग दिग्गज फॉक्सकॉन गुजरात के धोलेरा में सेमीकंडक्टर मैन्युफैक्चरिंग का प्लांट शुरू करने जा रहे हैं। राज्य सरकार के एक वरिष्ठ अधिकारी ने मीडिया को यह जानकारी दी है। वेदांता और फॉक्सकॉन ने संयंत्र स्थापित करने के लिए पिछले साल सितंबर में गुजरात सरकार के साथ 1,54,000 करोड़ रुपये के समझौता ज्ञापन (एमओयू) पर हस्ताक्षर किए थे। यह भारत में सेमीकंडक्टर्स के लिए पहली मैन्युफैक्चरिंग फैसिलिटी होगी। बता दें कि भारत में कई कंपनियां तरह-तरह के इलेक्ट्रॉनिक गैजेट्स का निर्माण कर रही हैं, लेकिन सेमीकंडक्टर अब पहली बार भारत में ही बनाए जाएंगे।

Related Articles

Stay Connected

1,158,960FansLike
856,329FollowersFollow
93,750SubscribersSubscribe

Latest Articles