Monday, May 20, 2024

अच्छा होता कि ना ही बिकता विराट के बारे में ये क्या बोल गया उनका ही साथी खिलाड़ी मचा तहलका…

इंडियन प्रीमियर लीग का 16वां सीजन (IPL-2023) 31 मार्च से शुरू होना है. सीजन का पहला मैच गत चैंपियन गुजरात सुपरजायंट्स और चेन्नई सुपर किंग्स के बीच होगा. इससे पहले ही तमाम टीम और खिलाड़ी अपनी-अपनी तैयारियों में जुटे हैं. इस बीच रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर (RCB) के एक खिलाड़ी ने अपने बयान से जैसे खेल जगत में सनसनी मचा दी है.

खिताबी सूखा खत्म करना चाहेगी आरसीबी टीम:

आईपीएल का 16वां सीजन शुरू होने में कुछ ही दिन बाकी हैं. हर सीजन की तरह, रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर (आरसीबी) का लक्ष्य खिताब जीतना है. आरसीबी टीम अभी तक एक बार भी आईपीएल की चमचमाती ट्रॉफी नहीं जीत पाई है. पिछले सीजन में तो विराट कोहली ने कप्तानी भी छोड़ दी थी. अब फाफ डुप्लेसी ही टीम की कमान संभाल रहे हैं. इस बीच टीम के ऑलराउंडर शाहबाज अहमद ने एक बयान दिया है. उन्होंने खुलासा किया कि वह 2020 में नीलामी के दिन बिना बिके रहने की उम्मीद कर रहे थे. तब टीम की कमान विराट कोहली के पास थी.

आरसीबी ऑलराउंडर ने दिया अजीब बयान:

आरसीबी पॉडकास्ट के नए एपिसोड में शाहबाज अहमद ने स्वीकार किया कि वह ऐसा बिलकुल नहीं सोच रहे थे कि बेंगलुरु टीम नीलामी में उनके लिए बोली लगाएगी. इसलिए ऑक्शन के पहले राउंड में बिना बिके रहने के बाद उन्होंने टीवी बंद कर दिया. अहमद ने कहा, ‘मैंने कभी नहीं सोचा था कि आरसीबी मुझे खरीदेगी. यह आश्चर्य की बात थी. ईमानदारी से कहूं तो उस समय मेरे कंधे में चोट थी. हर क्रिकेटर आईपीएल में खेलना चाहता है और तब मेरा घरेलू सीजन अच्छा चल रहा था.’

ऐसे मिली थी बिकने की जानकारी:

अहमद ने आगे कहा, ‘मैंने कभी नहीं सोचा था कि आरसीबी मुझे खरीदेगी. वास्तव में मैं सोच रहा था कि अगर मैं बिना बिके रह जाऊं तो बेहतर होगा क्योंकि मैं नहीं चाहता था कि आईपीएल में फिर से कोई समस्या आए. अगर मैं फिट नहीं हूं तो सीजन बेकार चला जाएगा. मेरे साथी इशान पोरेल को पहले पंजाब ने चुना था. इसके बाद मेरी बारी थी. पहले प्रयास में, मैं बिना बिके रह गया था. मैं बहुत खुश था. मैंने टीवी बंद कर दिया और मुझे राहत महसूस हुई. जैसे ही नीलामी समाप्त होने वाली थी, मेरे दोस्तों ने मुझे बताया कि मुझे आरसीबी ने चुना है. हर कोई अभी भी ड्रेसिंग रूम में नीलामी देख रहा था, और हर कोई खुश था.’

‘विराट भाई से लगता था डर’:

जब शाहबाज अहमद को आरसीबी टीम ने चुना, तब भी उन्हें ज्यादा भरोसा नहीं था, एक फील्डर के तौर पर उनकी परेशानियों और इस तथ्य के चलते कि कोहली फील्डिंग को लेकर काफी सख्त रहते हैं, वह थोड़ा परेशान भी हुए. उन्होंने कहा, ‘मैंने सोचा- अरे नहीं, ये कैसे हुआ. मेरा सबसे बड़ा डर यह था कि मुझे आरसीबी ने चुना और उस समय विराट भाई टीम इंडिया के कप्तान थे. मैंने सोचा- क्या होगा, मुझे फील्डिंग में परेशानी हो रही थी और विराट भाई फील्डिंग के बारे में बहुत सख्त हैं लेकिन कोविड-19 मेरे लिए गेम-चेंजर रहा. लॉकडाउन में मुझे कंधे की सर्जरी कराने का समय मिला. जब मैं पहले ट्रेनिंग कैंप के लिए टीम में शामिल हुआ, तो मैं फिट था.’

Related Articles

Stay Connected

1,158,960FansLike
856,329FollowersFollow
93,750SubscribersSubscribe

Latest Articles