Tuesday, May 21, 2024

अब EV चार्ज करने की टेंशन नहीं देशभर में चल रही इस बड़ी तैयारी से 7432 पब्लिक चार्जिंग स्टेशन बनेंगे…

अगर आप इलेक्ट्रिक वाहन के मालिक हैं तो यह खबर आपके लिए है। अब देश में इलेक्ट्रिक वाहनों को चार्ज करने में कोई दिक्कत नहीं होगी. देश की तीन तेल विपणन कंपनियां (ओएमसी) 7432 चार्जिंग स्टेशन स्थापित करने जा रही हैं। भारी उद्योग मंत्रालय ने मंगलवार को फेम इंडिया योजना के दूसरे चरण के तहत रु. 800 करोड़ की घोषणा की है। मंत्रालय ने 3 तेल विपणन कंपनियों को 800 करोड़ रुपये जारी किए हैं ताकि वे देश में 7432 फास्ट इलेक्ट्रिक चार्जिंग स्टेशन (इलेक्ट्रिक चार्जिंग स्टेशन) स्थापित कर सकें।

560 करोड़ की पहली किस्त जारी:
PTI की खबर के मुताबिक, मंत्रालय ने 3 OMCs- इंडियन ऑयल (IOCL), भारत पेट्रोलियम (BPCL) और हिंदुस्तान पेट्रोलियम (HPCL) को कुल राशि का 70 फीसदी यानी 560 करोड़ रुपये जारी कर दिए हैं. इस राशि की यह पहली किस्त है। इस राशि के जरिए ये कंपनियां देश में इलेक्ट्रिक इंफ्रास्ट्रक्चर और ईवी पब्लिक चार्जिंग स्टेशन के चार्जिंग इक्विपमेंट लगाएंगी।

मार्च 2024 तक पूरा होगा काम:
मंत्रालय ने एक बयान में कहा कि इन चार्जिंग स्टेशनों को लगाने का काम मार्च 2024 तक पूरा कर लिया जाएगा। बता दें कि अभी देश में 6586 चार्जिंग स्टेशन हैं। बयान में आगे कहा गया है कि इन नए 7432 सार्वजनिक चार्जिंग स्टेशनों की स्थापना इलेक्ट्रिक वाहन चार्जिंग इकोसिस्टम के लिए एक बड़ा कदम होगा।

लोग स्वच्छ परिवहन की ओर बढ़ेंगे।इस:
चार्जिंग स्टेशन के माध्यम से दुपहिया, चौपहिया, हल्के वाणिज्यिक और मिनी बस को चार्ज किया जा सकता है। भारी उद्योग मंत्रालय के मंत्री महेंद्र नाथ पांडे ने कहा कि इस कदम से भारत में इलेक्ट्रिक वाहन पारिस्थितिकी तंत्र को बढ़ावा देने में मदद मिलेगी। इतना ही नहीं, इन उपायों से और अधिक लोग परिवहन के स्वच्छ साधनों को अपनाएंगे। उन्होंने आगे कहा कि सरकार स्थायी हरित गतिशीलता को बढ़ावा देने के लिए तैयार है और देश के कार्बन उत्सर्जन को कम करने के लिए काम कर रही है। इतना ही नहीं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेट जीरो एमिशन की दिशा में काम चल रहा है. उन्होंने आगे कहा कि चार्जिंग इंफ्रास्ट्रक्चर नेटवर्क को निकट भविष्य में जनता के लिए सुलभ बनाया जाएगा।

Related Articles

Stay Connected

1,158,960FansLike
856,329FollowersFollow
93,750SubscribersSubscribe

Latest Articles