Monday, May 20, 2024

पानी में डूबा पीएम मोदी का ड्रीम प्रोजेक्ट डूब गए करोड़ों रुपए…

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का ड्रीम प्रोजेक्ट दम तोड़ चुका है. पीएम मोदी ने समुद्री खारे पानी को खारा बनाने के लिए बड़े पैमाने पर प्रोजेक्ट का ऐलान किया था. लेकिन राज्य सरकार की उपेक्षा के चलते इतना बड़ा प्रोजेक्ट अधर में लटक गया। राज्य सरकार ने इस परियोजना पर कोई ध्यान नहीं दिया। परियोजना के लिए लाए गए महंगे वाहन धूल फांक रहे हैं। सरकार ने इसके रख-रखाव का कोई इंतजाम नहीं किया। भारत के नियंत्रक एवं महालेखा परीक्षक CAG की रिपोर्ट में यह खुलासा हुआ है।

कुछ साल पहले इजरायल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू गुजरात आए थे। प्रधान मंत्री ने उनके साथ करोड़ों की एक परियोजना की घोषणा की, जो समुद्र के पानी को अलवणीकृत करने के लिए थी। कच्छ और द्वारका के खारे पानी को शुद्ध करने के लिए लगाई गई करोड़ों की जीपें सूख रही हैं। इजराइल से लाई गई यह तकनीक बेकार साबित हुई है।

ऐसी 7 जीपों के लिए 12.56 करोड़ का ठेका दिया गया। रिपोर्ट से पता चला कि वाहन को एक साल के रखरखाव और रखरखाव की अवधि पूरी होने के बाद सितंबर 2021 में एकाधिकार द्वारा डीकमीशन किया गया था। ऑडिट रिपोर्ट के मुताबिक सितंबर 2019 में खरीद समझौते के तहत सात वाहनों के लिए 2.35 करोड़ रुपये का तीन साल का ठेका दिया गया था, लेकिन लापरवाही के कारण जोखिम पैदा हो गया.

ऐसे में पूरा प्रोजेक्ट ठंडे बस्ते में चला गया। रिपोर्ट में राज्य सरकार द्वारा की गई गंभीर गलतियों का जिक्र है। जिसमें कहा गया कि राज्य सरकार ने इस महंगे प्रोजेक्ट से हाथ खींच लिया है।

Related Articles

Stay Connected

1,158,960FansLike
856,329FollowersFollow
93,750SubscribersSubscribe

Latest Articles