Wednesday, May 22, 2024

देश का इकलौता गांव जहां प्लास्टिक देने पर मिलता है सोना…

सोना खरीदने के लिए लोग खूब पैसा खर्च करते हैं. कुछ लोग सोने को पहनने के लिए खरीदते हैं तो कुछ इसे निवेश के मकसद से खरीदते हैं। लेकिन कल्पना कीजिए कि अगर आपको कचरे के बदले में सोना मिल रहा है, तो आप बहुत सारा कचरा दे रहे हैं और बदले में उससे सोना प्राप्त कर रहे हैं। भारत में एक ऐसा गांव है जहां कचरे के बदले सोना मिलता है। हालात यह हो गए हैं कि जैसे ही इसकी घोषणा हुई, कूड़ा साफ हो गया।

दरअसल, यह गांव आज के दक्षिण कश्मीर के अनंतनाग जिले में है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक इस गांव का नाम सादिवारा है और कुछ समय पहले इस गांव के सरपंच ने प्लास्टिक प्रदूषण से निपटने के लिए यह अनोखा अभियान शुरू किया है. इस गांव के सरपंच फारूक अहमद गनई गांव को प्लास्टिक प्रदूषण से मुक्त करना चाहते हैं, पेशे से वकील गनई ने कई प्रयास किए, लेकिन ज्यादा सफलता नहीं मिली. हालांकि इस बार उनकी यह कोशिश रंग ला रही है।

‘प्लास्टिक दो और सोना लो’:
जानकारी के मुताबिक , प्रधान यानी सरपंच ने ‘प्लास्टिक दो और सोना लो’ नाम से एक अभियान शुरू किया. इस योजना के तहत अगर कोई व्यक्ति 20 क्विंटल प्लास्टिक कचरा दान करता है तो पंचायत उसे एक सोने का सिक्का देगी। हालात यह हो गए हैं कि अभियान के 15 दिनों के भीतर ही पूरे गांव को प्लास्टिक मुक्त घोषित कर दिया गया। इस अभियान को काफी लोकप्रियता मिली है।

कई रिपोर्ट्स में इस बात का भी जिक्र है कि इसे देखते हुए आसपास की कई अन्य पंचायतों ने भी इसे अपनाया है। फिलहाल सरपंच का कहना है कि उन्होंने अपने गांव में इनाम के बदले पॉलीथिन देने की नीति शुरू की है, जो सफल रही है. मैंने नदियों और नहरों को साफ करने की पहल की और अब गांव में सभी ने स्थलों को साफ करने में हमारी मदद की है।

Related Articles

Stay Connected

1,158,960FansLike
856,329FollowersFollow
93,750SubscribersSubscribe

Latest Articles