Tuesday, July 23, 2024

सावन में गौरी शंकर रुद्राक्ष धारण करने के अनकों फायदे, सुखी रहता है दाम्पत्य जीवन….

सावन महीने की शुरुआत 4 जुलाई से होने वाली है. शिव पूजन के लिए यह महीना बहुत विशेष माना जाता है. इस महीने में भगवान शिव और माता पार्वती की विशेष पूजा-अर्चना कर उन्हें प्रसन्न करने का प्रयास किया जाता है. माना जाता है कि इस महीने भोलेनाथ की विशेष कृपा रहती है. मनोकामनाओं की पूर्ति के लिए यह महीना उत्तम माना जाता है.

सावन का महीना वैवाहिक जीवन की समस्याओं को दूर करने के लिए भी बहुत अच्छा समय माना जाता है. इस महीने में दाम्पत्य जीवन की परेशानियों को दूर करने के लिए कई उपाय किए जाते हैं. सुखी वैवाहिक जीवन के लिए सावन में गौरी शंकर रुद्राक्ष धारण करना शुभ माना जाता है. जानते हैं इसे पहनने से क्या लाभ मिलते हैं.

गौरी शंकर रुद्राक्ष क्या है?

गौरी शंकर रुद्राक्ष एक प्रकार का रुद्राक्ष है जो विवाहित जोड़ों के लिए विशेष लाभकारी माना जाता है. ज्योतिष शास्त्र के अनुसार इसे धारण करने से वैवाहिक जीवन में सद्भाव और समझ बढ़ती है. गौरी शंकर रुद्राक्ष नाम की उत्पत्ति माता गौरी और भगवान शंकर के नाम से हुई है. यह रुद्राक्ष शादीशुदा जोड़े को बुरी नजर, नकारात्मक ऊर्जा और दुर्भाग्य से बचाता है. इसे धारण करने से जीवन में सौभाग्य आता है.

सावन में गौरी शंकर रुद्राक्ष पहनने के फायदे

अगर आपका वैवाहिक जीवन तनावपूर्ण चल रहा है और आप अपने जीवन में खुशहाली लाना चाहते हैं तो सावन के महीने में गौरी शंकर रुद्राक्ष को जरूर धारण करें. सावन के महीने में इसे धारण करने से शीघ्र लाभ मिलता है. यह रुद्राक्ष प्रेम, सद्भाव और सुरक्षा का शक्तिशाली प्रतीक माना जाता है. इसे पहनने से जीवनसाथी के साथ सामंजस्य बनाने में मदद मिलती है. माना जाता है कि सावन में इस पहनने से पति-पत्नी पर माता पार्वती और शिव भगवान की कृपा बरसती है.

गौरी शंकर रुद्राक्ष पहनने के अन्य लाभ

गौरी शंकर रुद्राक्ष धारण करने के अन्य लाभ भी हैं. इसे पहनने से एकाग्रता बढ़ती है और कोई भी काम बहुत अच्छे तरीके से संपन्न होता है. इस पहनने से व्यक्ति अपने कार्यक्षेत्र में खूब प्रगति करता है. यह जीवन से तनाव और चिंता कम कर मानसिक शांति पहुंचाता है.

Related Articles

Stay Connected

1,158,960FansLike
856,329FollowersFollow
93,750SubscribersSubscribe

Latest Articles