Saturday, April 1, 2023

देश में कैंसर के मरीजों की संख्या में इजाफा हो सकता है..

धूम्रपान, तंबाकू और शराब के सेवन के अलावा कैंसर के सबसे महत्वपूर्ण कारणों में मोटापा, कुपोषण और शरीर में पोषक तत्वों की कमी और शारीरिक गतिविधियों की कमी शामिल है। इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च ने दावा किया है। कि 2025 तक कैंसर के मामले 12.7 फीसदी बढ़ सकते हैं। हालांकि पिछले कुछ सालों में भारत में कैंसर के मरीजों की संख्या तेजी से बढ़ी है। कैंसर के बढ़ते आंकड़ों को देखकर ही विशेषज्ञों ने यह दावा किया है। भारत एक खतरनाक स्थिति की ओर बढ़ रहा है।भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद के अनुसार, 2020 में अनुमानित कैंसर के मामले 2020 में राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में 13.92 लाख थे। जो 2021 में बढ़कर 14.26 लाख हो गई। जबकि 2022 में यह बढ़कर 14.61 लाख हो गई। जानिए क्या है कैंसर फैलने की मुख्य वजह?

विशेषज्ञों के मुताबिक, भारत में हृदय रोग और सांस की बीमारियों के अलावा कैंसर के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं। कैंसर के बढ़ते प्रसार के कई कारण हैं। इसमें जीवनशैली में उम्र से संबंधित बदलाव, व्यायाम की कमी और पोषण का सेवन आदि शामिल हैं। इसके साथ ही कई बार लोगों को कैंसर के लक्षणों के बारे में पूरी जानकारी न होने पर भी पता नहीं चल पाता है। जिससे इलाज में देरी हो रही है। अगर जल्दी इलाज न किया जाए तो कैंसर बढ़ता है और व्यक्ति की मौत हो जाती है। इसलिए लोगों में कैंसर के प्रति जागरुकता फैलाना बहुत जरूरी है।

भारत में पुरुषों में इस कैंसर का प्रचलन है।पिछलेकुछ वर्षों के सामान्य आंकड़ों पर नजर डालें तो हमारे देश में पुरुषों में सबसे ज्यादा मुंह और फेफड़ों के कैंसर पाए जाते हैं। वहीं, महिलाओं में कैंसर के ज्यादातर मामले ब्रेस्ट और यूटरस से आते हैं। बेंगलुरु स्थित आईसीएमआर नेशनल सेंटर फॉर डिजीज इंफॉर्मेटिक्स एंड रिसर्च (एनसीडीआईआर) के मुताबिक, 2015 से 2022 तक सभी तरह के कैंसर के आंकड़ों में करीब 24.7 फीसदी की बढ़ोतरी हुई है। 14 वर्ष से कम आयु के बच्चों में रक्त से संबंधित कैंसर लिम्फोइड ल्यूकेमिया विकसित होने का खतरा बढ़ जाता है।

कैसे बचें इस भयानक बीमारी से डॉ। सुहास आग्रे, कंसल्टेंट मेडिकल ऑन्कोलॉजिस्ट और हेमेटोनकोलॉजिस्ट के अनुसार, उम्र बढ़ना, पारिवारिक इतिहास, आनुवांशिकी, मोटापा, तंबाकू का उपयोग, शहद का सेवन, मानव पेपिलोमावायरस (एचवीपी) जैसे वायरल संक्रमण, पर्यावरण में रासायनिक प्रदूषण, हानिकारक यूवी किरणों के संपर्क में आना, सूरज के संपर्क में आना खराब आहार, शारीरिक गतिविधि की कमी और कुछ हार्मोन और बैक्टीरिया इस खतरनाक बीमारी के फैलने के कारणों में से हैं। इस बीमारी से बचने के लिए जरूरी है कि कैंसर के लक्षण दिखते ही डॉक्टर से संपर्क किया जाए।

Related Articles

Stay Connected

1,158,960FansLike
856,329FollowersFollow
93,750SubscribersSubscribe

Latest Articles