Friday, April 12, 2024

एक अनोखा गांव जहां लोग कुंभकर्ण की तरह सोते हैं वहां एक बार सोने के बाद महीनों तक नहीं उठते…

जिस तरह इंसान के लिए सांस लेना, खाना और पानी पीना जरूरी है, उसी तरह नींद भी जरूरी है और इस बात को विज्ञान और शास्त्रों में समझाया गया है। कहा जाता है कि स्वस्थ रहने के लिए अच्छी नींद बहुत जरूरी है, लेकिन काम के बोझ तले हम इतने व्यस्त हो गए हैं कि लोगों को नींद का महत्व समझाने के लिए हर साल मार्च के तीसरे शुक्रवार को स्लीप डे के रूप में मनाया जाता है.. लेकिन क्या आपने जानिए दुनिया में एक ऐसा भी गांव है जहां के बारे में कहा जाता है कि यहां के लोग कुंभकर्ण को भी सोने में फेल कर देते हैं।

यहां हम बात कर रहे हैं कजाकिस्तान के कलाची गांव की… जहां लोग महीनों सोते हैं। जिससे दुनिया इसे स्लीपी हॉलो विलेज के नाम से भी जानती है। यहां रहने वाले लोग अक्सर सोते रहते हैं। जिससे यहां के लोगों पर कई शोध किए जा चुके हैं, लेकिन अभी तक कोई उचित नतीजा सामने नहीं आया है।लोग अचानक क्यों सो जाते हैं?:स गांव के बारे में कुछ वैज्ञानिकों का दावा है कि इस गांव में बहुत पुरानी यूरेनियम की खदान है। जिससे वहां से जहरीली गैस निकलती रहती है। हैरानी की बात यह है कि सालों से इसका इस्तेमाल नहीं हो रहा है जिससे यहां का पानी भी पूरी तरह दूषित हो गया है। इसीलिए इसके प्रभाव में आने वाला व्यक्ति कई महीनों तक सोता है। वैज्ञानिकों के मुताबिक इस गांव में हवा और पानी की वजह से यह स्थिति बनी है. लेकिन आज तक इस बारे में कोई पुख्ता सबूत नहीं दिया गया है।

आपको जानकर हैरानी होगी कि यहां इंसान ही नहीं बल्कि जानवर भी इस बीमारी से पीड़ित हैं। इसके अलावा यहां जो एक बार सो जाता है उसे कुछ भी याद नहीं रहता। जब ये लोग जागे तो इन्हें कुछ भी याद नहीं था.. यहां के लोग, जो नींद की अजीबोगरीब समस्या से पीड़ित हैं, चलते-फिरते, खाते या नहाते समय कभी भी सो जाते हैं। प्रशासन ने दावा किया कि प्रतिक्रिया खाली यूरेनियम खानों की बाढ़ के कारण हुई, जो जहरीली गैसों को लीक कर रहे थे

Related Articles

Stay Connected

1,158,960FansLike
856,329FollowersFollow
93,750SubscribersSubscribe

Latest Articles