Monday, June 24, 2024

Post Office की कमाल की स्कीम, सिर्फ ब्याज से 5 लाख रुपए के निवेश पर 2 लाख रुपए की गारंटीड इनकम

अगर आप निवेश के लिए सुरक्षित और गारंटीड रिटर्न का विकल्प चाहते हैं तो पोस्ट ऑफिस के नेशनल सेविंग्स सर्टिफिकेट (NSC) में निवेश कर सकते हैं। पोस्ट ऑफिस की इन छोटी बचत योजनाओं की खास बात यह है कि इनमें निवेश की कोई अधिकतम सीमा नहीं है। वहीं, इसमें एक से ज्यादा अकाउंट खोले जा सकते हैं। एनएससी में जमा राशि पर आयकर की धारा 80सी के तहत 1.5 लाख रुपये तक की कर कटौती का लाभ भी मिलता है।

NSC: ब्याज दर और परिपक्वता
डाकघर की राष्ट्रीय बचत प्रमाणपत्र (NSC) योजना पर 1 जनवरी, 2023 से 7 प्रतिशत प्रति वर्ष की दर से ब्याज मिल रहा है। ब्याज वार्षिक रूप से संयोजित होता है लेकिन इसका भुगतान केवल परिपक्वता पर किया जाता है। इस योजना की परिपक्वता 5 वर्ष है। पोस्ट ऑफिस की वेबसाइट पर दी गई जानकारी के मुताबिक अगर आप एनएससी में 1000 रुपये का निवेश करते हैं तो आपको अगले 5 साल बाद 1403 रुपये मिलेंगे।

₹5 लाख जमा करने पर मिलेंगे ₹7 लाख
NSC कैलकुलेटर के मुताबिक, इस स्कीम में अगर एकमुश्त ₹5 लाख जमा किए जाते हैं तो 5 साल बाद मैच्योरिटी पर कुल ₹7,01,276 मिलेंगे। इससे ब्याज से 2,01,276 रुपये की आय होगी। राष्ट्रीय बचत प्रमाणपत्र (NSC) में निवेश किसी भी डाकघर से किया जा सकता है जहां बचत खाता खोलने की सुविधा उपलब्ध हो। इस योजना के तहत खाता न्यूनतम 1000 रुपये से खोला जाता है। वहीं, इसमें निवेश की कोई अधिकतम सीमा तय नहीं है। योजना में आप 100 रुपये के गुणकों में जमा कर सकते हैं। इसमें निवेश पूरी तरह सुरक्षित है। यह बाजार जोखिम से प्रभावित नहीं है।

कौन खोल सकता है अकाउंट
पोस्ट ऑफिस की वेबसाइट के मुताबिक देश भर में किसी भी पोस्ट ऑफिस की ब्रांच में एनएससी अकाउंट खोला जा सकता है। कोई भी वयस्क खाता खोल सकता है। इसमें संयुक्त खातों के अलावा 10 वर्ष से अधिक उम्र के बच्चों के माता-पिता या कानूनी अभिभावक प्रमाण पत्र खरीद सकते हैं। एनएससी में कम से कम रु। 1000 का निवेश करना होगा। इसके बाद आप 100 के गुणक में सर्टिफिकेट खरीद सकते हैं। इसमें निवेश करने की कोई सीमा नहीं है। NSC में 5 साल से पहले पैसा नहीं निकाला जा सकता है। कुछ परिस्थितियों में अपवाद बनाए जाते हैं। सरकार 3 महीने के बाद लघु बचत योजना पर ब्याज में संशोधन करती है।

एनएससी में ब्याज वार्षिक रूप से अर्जित होता है लेकिन केवल परिपक्वता पर ही भुगतान किया जाता है। एनएससी को सभी बैंकों और एनबीएफसी द्वारा ऋण के लिए संपार्श्विक या सुरक्षा के रूप में स्वीकार किया जाता है। निवेशक अपने परिवार के किसी भी सदस्य को नॉमिनी के तौर पर नॉमिनेट कर सकता है। NSC को जारी करने की तारीख और परिपक्वता की तारीख के बीच एक बार एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति को स्थानांतरित किया जा सकता है। इस स्कीम में इनकम टैक्स सेक्शन 80C के तहत 1.5 लाख रुपये तक का टैक्स डिडक्शन क्लेम लिया जा सकता है.

Related Articles

Stay Connected

1,158,960FansLike
856,329FollowersFollow
93,750SubscribersSubscribe

Latest Articles