Friday, April 12, 2024

क्रेडिट कार्ड का कर्ज 30% बढ़कर सर्वकालिक उच्च स्तर पर पहुंच गया…

देश में बढ़ते आधुनिकीकरण और पूर्व-कोविड स्तरों पर उपभोक्ता विश्वास में वृद्धि के कारण, जनवरी के महीने के दौरान क्रेडिट कार्ड बकाया 29.6% बढ़कर 1.87 लाख करोड़ रुपये के सर्वकालिक उच्च स्तर पर पहुंच गया। रिजर्व बैंक के आंकड़ों के मुताबिक चालू वित्त वर्ष के पहले 10 महीनों के दौरान क्रेडिट कार्ड बकाया में 20 फीसदी की बढ़ोतरी हुई है. सबसे ज्यादा 30.7 फीसदी की ग्रोथ जून में देखी गई थी। एसबीआई कार्ड के एमडी और सीईओ राम मोहन राव अमारा ने कहा कि कई श्रेणियों के डिजिटलीकरण से मौजूदा क्रेडिट कार्ड ग्राहकों द्वारा उपयोग में वृद्धि हुई है।

क्रेडिट कार्ड के जरिए भुगतान में आसानी के कारण कुछ श्रेणियों में लागत बढ़ गई है। जिसमें स्वास्थ्य और फिटनेस, शिक्षा, उपयोगिता बिल शामिल हैं। क्रेडिट कार्ड के उपयोग का मासिक रुझान भी पिछले कुछ महीनों में उपयोग में लगातार वृद्धि दिखा रहा है। इस साल जनवरी के दौरान क्रेडिट कार्ड खर्च दिसंबर 2022 के 1.26 लाख करोड़ रुपये से बढ़कर 1.28 लाख करोड़ रुपये हो गया है। सालाना ग्रोथ की बात करें तो इसमें 45% की ग्रोथ देखने को मिली है। दरअसल, पिछले 11 महीनों के दौरान क्रेडिट कार्ड खर्च 1 लाख करोड़ रुपये के आंकड़े को पार कर गया है।

जनवरी, 2023 के अंत में विभिन्न बैंकों द्वारा 8.25 करोड़ क्रेडिट कार्ड आवंटित किए गए। देश में सबसे ज्यादा क्रेडिट कार्ड जारी करने में एचडीएफसी बैंक, एसबीआई कार्ड, एक्सिस बैंक, आईसीआईसीआई बैंक, कोटक बैंक शामिल हैं। एंड्रोमेडा लोन्स के कार्यकारी अध्यक्ष वी स्वामीनाथन ने कहा कि मॉर्गेज और बिजनेस लोन जैसे सिक्योर्ड लोन के चलन में गिरावट आई है।

क्रेडिट कार्ड बकाया बढ़कर 29.6% हो गया भारतीय रिज़र्व बैंक के आंकड़ों के अनुसार, जनवरी 2023 के दौरान क्रेडिट कार्ड बकाया 29.6% साल-दर-साल बढ़ा, जो एक साल पहले 10% था। तब से बकाया राशि जनवरी, 2022 में बढ़कर 1,41,254 करोड़ रुपये और जनवरी, 2023 में 1,86,783 करोड़ रुपये हो गई है। आरबीआई के सर्वे के मुताबिक, पिछले साल और चालू साल में कंज्यूमर कॉन्फिडेंस में सुधार हुआ है।

Related Articles

Stay Connected

1,158,960FansLike
856,329FollowersFollow
93,750SubscribersSubscribe

Latest Articles