Monday, May 20, 2024

हनुमान जयंती पर भूलकर भी न करें ये 5 काम परिणाम होगा अशुभ…

शास्त्रों के अनुसार हनुमानजी की पूजा में चरणामृत और पंचामृत का उपयोग नहीं किया जाता है। बजरंगबली को गंगाजल से ही स्नान कराएं। यह काम केवल पुरुषों को करना चाहिए, महिलाओं को मूर्ति को छूने की अनुमति नहीं है।

हनुमान जयंती के दिन राहु काल का विशेष ध्यान रखें, यह अशुभ माना जाता है। राहु काल में बजरंगबली की पूजा नहीं करनी चाहिए इससे पूजा अनुचित होती है। इस बार हनुमान जयंती 6 अप्रैल 2023 को राहु काल दोपहर 01 बजकर 58 मिनट से 03 बजकर 33 मिनट तक है।

8वें वेतन आयोग पर बड़ा अपडेट, कर्मचारियों की सैलरी में होगी बंपर बढ़ोतरी,
गैस सिलेंडर पर 50 लाख रुपये तक का मुफ्त बीमा: जानिए अपने अधिकार और नियम
देश का इकलौता गांव… जहां मिलता है प्लास्टिक देकर सोना वजह जानकर चौंक जाएंगे आप
हनुमान जयंती पर करें ये 5 अचूक उपाय, जीवन से दूर होंगी परेशानियां

हनुमानजी वानर राजा केसरी के पुत्र हैं, इसलिए हनुमान जयंती के दिन भूलकर भी बंदरों को परेशान न करें। ऐसा करना बजरंगी के प्रकोप का कारण बन सकता है।

पवनपुत्र हनुमान की पूजा का फल तभी मिलता है जब तन और मन दोनों पवित्र हों। हनुमान जयंती के दिन भूल से भी काले रंग के कपड़े न पहनें। यह नकारात्मक ऊर्जा के प्रवाह को बढ़ाता है। बजरंगी की पूजा में लाल रंग को बेहद शुभ माना जाता है।

यह भी पढ़ें: 6 में से 1 व्यक्ति पर माता-पिता बनने का खतरा, WHO की रिपोर्ट में खुलासा यह भी पढ़ें: WHO रिपोर्ट: नमक बन रहा है साइलेंट किलर, 70 लाख लोगों की जान
जोखिम में उम्र, डब्ल्यूएचओ ने चेतावनी दी! यह भी पढ़ें: इस शानदार बिजनेस से हर साल कमाएं 12 लाख रुपये, सरकार देगी कर्ज

श्री राम और माता अंजनी की पूजा के बिना हनुमान जी की पूजा अधूरी मानी जाती है। हनुमान जयंती पर हनुमान लला को जन्म दें और उनकी पूजा भी करें। पूजा स्थल पर साफ-सफाई का विशेष ध्यान दें। पूजा में तेल का दीपक जलाएं, फिर उसमें लाल धागे की बाती रखें।

हनुमान जयंती पर तामसिक पदार्थ जैसे मांस, मछली, अंडे, लहसुन, प्याज आदि का सेवन नहीं करना चाहिए। साथ ही पूजा से एक दिन पहले ब्रह्मचर्य का पालन करें।

Related Articles

Stay Connected

1,158,960FansLike
856,329FollowersFollow
93,750SubscribersSubscribe

Latest Articles