Saturday, April 13, 2024

क्या आप जानते हैं कि Google आपको कैसे ट्रैक कर रहा है जासूसी से बचने के लिए तुरंत करें यह उपाय…

आज के समय में स्मार्टफोन का इस्तेमाल करना जितना फायदेमंद है उतना ही खतरनाक भी है। हैकिंग और साइबर चोरी प्रौद्योगिकी से संबंधित सबसे बड़ी समस्याओं में से एक है और इससे बचना एक कठिन कार्य है। आपको पता ही होगा कि आज आपका स्मार्टफोन डेटा चोरी करने के लिए हैकर्स का सबसे आसान निशाना है। आज हम आपको विस्तार से बताएंगे कि ऐसे कितने गूगल ऐप्स आपकी जासूसी कर रहे हैं, जो काफी खतरनाक साबित हो सकते हैं।

गूगल ऐसे कर रहा है आपकी जासूसी-:
आपको शायद पता न हो, अगर आप सर्च और मैप्स जैसे गूगल के फीचर्स का इस्तेमाल करते हैं तो आपको बता दें कि इन ऐप्स के जरिए गूगल आपका सारा डेटा सेव कर रहा है। गूगल आपके लोकेशन डेटा को इन ऐप्स के जरिए सेव करता है और इसके लिए वह आपके स्मार्टफोन के जीपीएस सिस्टम की मदद लेता है।

Google की यह कार्रवाई क्या करेगी –:
Google आपके स्थान से संबंधित डेटा को सहेज कर अपने विज्ञापनों को बेहतर बनाने का प्रयास करता है। आपको बता दें कि Google की जासूसी से दुनिया भर में Google के Android OS का उपयोग करने वाले दो अरब से अधिक उपयोगकर्ता प्रभावित हुए हैं। आपको बता दें कि गूगल के इस कदम से कई आईफोन यूजर्स भी परेशान हैं, जो मैप और सर्च के लिए गूगल पर निर्भर हैं।

How to Stop Location Tracking by Google-:
वैसे तो Google हमेशा आपको ट्रैक करने से पहले आपकी अनुमति लेता है और उसके बाद भी जारी रखता है, लेकिन आप चाहें तो Google द्वारा इस लोकेशन ट्रैकिंग को बंद कर सकते हैं। ऐसा करने के लिए, आपको सबसे पहले अपने स्मार्टफोन के ब्राउज़र में जाना होगा, google.com खोलना होगा, ऊपर दाईं ओर दिए गए आइकन पर क्लिक करना होगा, अपने Google खाते में लॉग-इन करना होगा और फिर ‘अपने Google खाते को प्रबंधित करें’ पर क्लिक करना होगा। इस विकल्प को चुनने के बाद ‘गोपनीयता और वैयक्तिकरण’ पर जाएं, ‘अपना डेटा और गोपनीयता प्रबंधित करें’ पर क्लिक करें, ‘गतिविधि नियंत्रण’ चुनें और ‘अपना गतिविधि नियंत्रण प्रबंधित करें’ चुनें। यहां आपको ‘वेब एंड एक्टिविटी’ दिखेगा जिसे आपको ऑन और ऑफ करना है।

इस तरह आप अपने Google ट्रैकिंग फीचर को बंद करके इस जासूसी से बच सकते हैं। लेकिन आपको बता दें कि इस फीचर को सेलेक्ट करने से आपको Google ऐप्स और सर्विसेज पर उतने पर्सनलाइज्ड सुझाव नहीं मिलेंगे, जितने पहले मिलते थे।

Related Articles

Stay Connected

1,158,960FansLike
856,329FollowersFollow
93,750SubscribersSubscribe

Latest Articles