Saturday, June 3, 2023

गुजरात के दिल्ली श्रद्धा मर्डर केस जैसी ही एक घटना में पति-पत्नी ने दोस्त के शव के टुकड़े-टुकड़े कर कचरे में फेंक दिया…

दिल्ली के श्रद्धा हत्याकांड को याद कर भी रोंगटे खड़े हो जाते हैं. फिर श्रद्धा हत्याकांड जैसी घटना गुजरात में ही हुई है. जिसमें एक दंपती ने मिलकर युवक के शव के टुकड़े-टुकड़े कर दिए। पति समेत दोस्त की पीठ में छुरा घोंपा गया। बाद में सिर को धड़ से अलग कर लिया और शरीर के टुकड़ों को थैलियों में डालकर कलश में फेंक दिया।

जानकारी मिली अंसार बापूनगर निवासी मोहम्मद मेराज पठान गत 22 जनवरी से लापता था. वह अपनी पत्नी को यह कहकर घर से निकला था कि वह थोड़ी देर में वापस आ जाएगा। जिसके बाद वह घर नहीं लौटा। तो उसके परिजनों ने बापूनगर थाने में उसके लापता होने की रिपोर्ट दर्ज करायी. लिहाजा पुलिस ने उसकी तलाश के लिए पहिए तेज कर दिए थे। लेकिन तीन महीने तक मोहम्मद मेराज का कहीं पता नहीं चला। आखिरकार तीन महीने बाद मोहम्मद की हत्या की गुत्थी से पर्दा उठा।

उसके परिजनों ने पुलिस को बताया कि मोहम्मद मेराज अपने इस दोस्त इमरान उर्फ ​​सुल्तान के घर समय-समय पर जाता रहता था. जब भी कोई फोन आता, मोहम्मद मेराज अपने दोस्त इमरान से मिलने चला जाता। इस इमरान उर्फ ​​सुल्तान की पत्नी का नाम रिजवाना उर्फ ​​नेहा है। उस समय पुलिस को शक था कि मोहम्मद मेराज के लापता होने के पीछे इमरान का हाथ है, इसलिए पुलिस ने उस दिशा में पहल की. अंत में पता चलता है कि मोहम्मद को इमरान और उसकी पत्नी ने मिलकर मारा था।

घटना के तथ्य यह थे कि मोहम्मद मेराज उर्फ ​​माइकल इमरान का दोस्त होने के कारण आए दिन उसके घर आता था और उसकी पत्नी रिजवाना उर्फ ​​नेहा से छेड़छाड़ करता था। इसलिए उसने इमरान मोहम्मद को मार डाला। रिजवाना उर्फ ​​नेहा ने मोहम्मद मेराज को सरप्राइज गिफ्ट देने के बहाने अपने घर बुलाया। इसके बाद नेहा ने मोहम्मद मेराज की आंखों पर दुपट्टा बांध दिया। इस बार इमरान ने मोहम्मद मेराज उर्फ ​​माइकल के पेट में चाकू घोंप दिया। अंत में मोहम्मद की मृत्यु हो गई। इतना ही नहीं इमरान ने मोहम्मद का सिर भी धड़ से अलग कर दिया। इसके बाद उसने मोहम्मद के शव के टुकड़े-टुकड़े कर दिए, ताकि उसे आसानी से ठिकाने लगाया जा सके। उसने कबूल किया कि उसने मोहम्मद के सिर को कचरे के ढेर में फेंक दिया था, शरीर के टुकड़ों को बैग में काट दिया, उन्हें स्कूटी पर रख दिया और शरीर के टुकड़ों को फेंकने के लिए ओधव फायर ब्रिगेड के पीछे नहर में चला गया।

पुलिस ने जब ओधव फायर ब्रिगेड के पीछे तलाश की तो लापता मोहम्मद मेराज उर्फ ​​माइकल के शरीर की कुछ हड्डियां उस जगह से अधूरे कंकाल के रूप में मिलीं, जहां लापता मोहम्मद मेराज उर्फ ​​माइकल के शरीर के अंगों को मार कर फेंक दिया गया था. थैला।

Related Articles

Stay Connected

1,158,960FansLike
856,329FollowersFollow
93,750SubscribersSubscribe

Latest Articles