Tuesday, July 23, 2024

डाइबिटीज के मरीज आम खा सकते हैं या नहीं, यहां जानें, 2 मिनट में दूर हो जाएगा भ्रम….

ब्लड शुगर पर पड़ता है कम असर: इस फल में फाइबर और कई तरह के एंटीऑक्सिडेंट होते हैं, जो इसके ओवरऑल ब्लड शुगर इफेक्ट को कम करने में अच्छा रोल निभाते हैं. साथ ही फाइबर उस दर को धीमा कर देता है, जिस पर आपका शरीर आपके रक्त प्रवाह में चीनी को अवशोषित करता है. इसके साथ ही इसमें मौजूद एंटीऑक्सीडेंट बढ़ते ब्लड शुगर लेवल से जुड़े किसी भी तरह के स्ट्रेस को कम करने में मदद करते हैं, जिससे आपकी बॉडी के लिए कार्ब्स के फ्लो को मैनेज करना और ब्लड शुगर लेवल को मेंटेन करना आसान हो जाता है.

आम में होते हैं ये पोषक तत्व: आम विटामिन, खनिज और फाइबर से भरपूर होता है, साथ ही इसमें कई तरह के पोषक तत्व मौजूद होते हैं. बता दें कि एक कप कटे हुए आम यानी 165 ग्राम आम में 99 कैलोरी, 1.4 ग्राम प्रोटीन, 0.6 ग्राम वसा, 25 ग्राम कार्ब्स, 22.5 ग्राम चीनी, 2.6 ग्राम फाइबर, 67% विटामिन सी, 20% कॉपर, 18% फोलेट, 10% विटामिन ए, 10% विटामिन ई, पोटेशियम 6%, मैग्नीशियम, कैल्शियम, फॉस्फोरस, आयरन और जिंक आदि मौजूद होते हैं.

इस तरह से कर सकते हैं डाइट में शामिल: अगर आपको डाइबिटीज है और आप आम खाने के शौक़ीन हैं तो इसको अपनी डाइट में शामिल करने के लिए कुछ तरीके अपना सकते हैं. आप आम का सेवन ब्रेकफास्ट या लंच के दौरान कर सकते हैं. इसको बैलेंस करने के लिए आप साथ में उबले हुए अंडे, पनीर के टुकड़े या फिर मुट्ठी भर ड्राई फ्रूट्स के साथ इसे डाइट में शामिल कर सकते हैं.

प्रोटीन सोर्स के साथ एड कर सकते हैं: फाइबर की तरह ही प्रोटीन युक्त चीजों के साथ आम का सेवन करने से ये ब्लड शुगर स्पाइक्स को कम करने में मदद कर सकता है, इसलिए आप इस फल को प्रोटीन वाली चीजों के साथ जोड़कर अपने ब्लड शुगर पर आम के प्रभाव को कम कर सकते हैं.

Related Articles

Stay Connected

1,158,960FansLike
856,329FollowersFollow
93,750SubscribersSubscribe

Latest Articles